"किसी पर मर जाने से होती हैं मोहब्बत, इश्क जिंदा लोगों के बस का नहीं।"

गुलज़ार की शायरी 

WWW.DICRMD.IN

यूँ भी इक बार तो होता कि समुंदर बहता कोई एहसास तो दरिया की अना का होता

WWW.DICRMD.IN

यूँ भी इक बार तो होता कि समुंदर बहता कोई एहसास तो दरिया की अना का होता

WWW.DICRMD.IN

कितनी लम्बी ख़ामोशी से गुज़रा हूँ उन से कितना कुछ कहने की कोशिश की

Kitani Lambi Khaamoshi Se Guzara Hoon Un Se Kitana Kuchh Kehne Ki Koshish Ki

WWW.DICRMD.IN

आदतन तुमने कर दीए वादे, आदतन हमने एतबार किया… तेरी राहों में बारहाँ रुक कर, हमने अपना ही इंतज़ार किया… अब ना मांगेंगे ज़िन्दगी या रब, यह गुनाह हमने जो एक बार किया…!!

Aadatan tumne kar diye vaade, Aadatan humne aitbar kiya… Teri raahon mein baarhan ruk kar, Humne apna hi intezaar kiya… Ab naa mangenge zindagi yaa rab, Yeh gunaah humne jo ek baar kiya…!!

WWW.DICRMD.IN

बहुत मुश्किल से करता हूँ तेरी यादों का कारोबार, मुनाफा कम है लेकिन गुज़ारा हो ही जाता है!

Bahut Mushkil se karta hoo teri yado ka karobar, Munafa kam hai lekin guzara ho jata hai 

WWW.DICRMD.IN

दिल के रिश्ते‍‍‍ ✧ हमेशा किस्मत से ही बनते है✧¸ वरना मुलाकात तो रोज ✧ हजारों1000 से होती है

Dil Ҝe Rishte Haɱesha Ҝisɱat Se Hi bante Hain¸ Varna mulaqaat to Roz hazaron Se Hoti Hai.

WWW.DICRMD.IN

वह जो सूरत पर सबकी हंसते है✧¸ उनको तोहफे में एक 📷आईना दीजिए ✧

Wo Jo Surat per SabҜi Haste Hain¸ unҜo tohfe ɱain EҜ Aaina dijiye.

WWW.DICRMD.IN

कुछ शिकायत बनी रहे¸ तो बेहतर है✧¸ चाशनी में डूबे रिश्ते‍‍‍ वफादार 📷नही होते।

Ҝuch shiҜayte Bani Rahe to Behtar hai¸ chashni ɱein doobe Rishte  wafadar Nahi Hote.

WWW.DICRMD.IN

तेरी तरह बेवफा निकले मेरे घर के 📷आईने भी¸ खुद को देखूं ✧ तेरी तस्वीर नजर आती है✧।

Teri Tarah Bewafa niҜale ɱere Ghar Ҝe Aaine bhi¸ Ҝhud Ҝo DeҜhu Teri Tasveer Nazar Aati Hai.

सच को तमीज ही 📷नही बात करने की¸ झूठ📷 को ‍देखो कितना मीठा बोलता है✧।

Sach Ҝo Taɱeez hi  nahin baat Ҝarne Ҝi¸ Jhoot Ҝo DeҜho  Ҝitna ɱeetha bolta Hai.

कुछ ऐसे हो गए है✧  इस दौर के रिश्ते‍‍‍¸ आवाज अगर तुम ना दो तो ✧  बोलते वह भी 📷नही।

Ҝuch Aise ho gaye hain is Daur Ҝe Rishte¸ Awaaz Agar Tum Na do to bolate wo Bhi Nahin.

चुप हो तो ✧  पत्थर ना समझना मुझे¸ दिल पर असर हुआ है✧¸ किसी अपने की बात का✧।

Chup hun to Pathar Na saɱajhna ɱujhe¸ Dil Par Asar Hua Hai Ҝisi Apne Ҝi baat Ҝa.

तुझसे कोई शिकवा शिकायत 📷नही है✧ जिंदगी तूने जो भी दिया है✧ वही बहुत है✧।

Tujh Se Ҝoi ShiҜva ShiҜayat Nahin Aye Zindagi¸ Tune Jo Bhi Diya Hai Vahi bahut hai.