Gulzar Shayari in hindi | गुलजार शायरी इन हिन्दी

Spread the love Keep sharing
Contents hide

Are you looking for Gulzar shayari in hindi क्या आप गुलजार की शायरी ढूंढ रहे हे हिन्दी में आप बिलकुल सही जगह पर हे आपको यहां गुलजार की सभी शायरिया और क्वोट इसी पेज पर मिलेंगे अगर आप हमारी गूगल की वेब स्टोरीज देखना चाहते हे तो वो भी इसी पेज में निचे आपको मिल जाएगी

आप कभी भी इसे अपने दोस्तों को शेयर करने के बटन द्वारा शेयर कर सकते हो

दोस्तों गुलजार भारतीय सिनेमा जगत के नामी लेखक गजल कलाकार हैं भारतीय सिनेमा जगत के मशहूर गीतकार, विश्व प्रसिद्ध शायर, पटकथा लेखक, फ़िल्म निर्देशक तथा नाटक-कार गुलज़ार जी पर आधारित हैं और आप इसकी स्टोरी और पोस्ट दोस्तों को भेज सकते हे .

गुलज़ार जी को आज के समय में पूरा विश्व उनके चाहको से भरा हुआ हे आज भी लोग इन्हें याद करते हे मानते हे

  • 17
  • 16
  • 15
  • 14
  • 13
  • 12
  • 11
  • 10
  • 9
  • 8
  • 7
  • 18
  • 6
  • 5
  • 4
  • 3
  • 2
  • आँखों से आँसुओं के मरासिम पुराने हैं मेहमाँ ये घर में आएँ तो चुभता नहीं धुआँ

Heart touching गुलजार की शायरी

आँखों से आँसुओं के मरासिम पुराने हैं

मेहमाँ ये घर में आएँ तो चुभता नहीं धुआँ

गुलज़ार
गुलजार की शायरी

गुलजार की शायरी

यूँ भी इक बार तो होता कि समुंदर बहता

कोई एहसास तो दरिया की अना का होता

गुलज़ार
2

गुलजार शायरी

कुछ अलग करना हो तो

भीड़ से हट के चलिए,

भीड़ साहस तो देती हैं

मगर पहचान छिन लेती हैं

गुलज़ार
3

गुलज़ार शायरी

दिन कुछ ऐसे गुज़ारता है कोई

जैसे एहसान उतारता है कोई

गुलज़ार
4

शायरी गुलजार

आइना देख कर तसल्ली हुई

हम को इस घर में जानता है कोई

गुलज़ार
5

गुलज़ार शायरी

शायर बनना बहुत आसान हैं,

बस एक अधूरी मोहब्बत की मुकम्मल डिग्री चाहिए।

गुलज़ार
6

गुलज़ार दो लाइन शायरी

7

गुलजार की दो लाइन शायरी

मिलता तो बहुत कुछ है इस ज़िन्दगी में,

बस हम गिनती उसी की करते है जो हासिल ना हो सका।

गुलज़ार
8

गुलजार शायरी जिंदगी

घर में अपनों से उतना ही रूठो,

कि आपकी बात और दूसरों की इज्जत,

दोनों बरक़रार रह सके।

गुलज़ार
9

गुलजार शायरी हिन्दी

सोचा था घर बना कर बैठूंगा सुकून से,

पर घर की जरूरतों ने मुसाफिर बना दिया..

गुलज़ार
10

गुलज़ार की शायरी

Ghar Me Apano Se utana Hi Rutho,

Ki Aapki Baat Aur Dusaro Ki Izzat Dono Barkaraar Rahe..

गुलज़ार

गुलजार हिंदी शायरी

एक सपने के टूटकर चकनाचूर हो जाने के बाद,

दूसरा सपना देखने के हौसले का नाम जिंदगी हैं।

गुलज़ार
11

गुलजार shayari

Ek Sapane Ke Tutkar Chaknachur Ho Jaane Ke Baad,

Dusara Sapana Dekhane Ke Hausale Ka Naam Zindagi Hain..

गुलज़ार
12

गुलजार दोस्ती शायरी

कल का हर वाक़िआ तुम्हारा था,

आज की दास्ताँ हमारी है।

गुलज़ार
13

गुलजार साहब की शायरी

अपने साए से चौंक जाते हैं,

उम्र गुज़री है इस क़दर तन्हा।

गुलज़ार
14

गुलजार की हिंदी शायरी

लकीरें हैं तो रहने दो,

किसी ने रूठ कर गुस्से में शायद खींच दी थी,

उन्ही को अब बनाओ पाला, और आओ कबड्डी खेलते हैं।

गुलज़ार
15

शायरी गुलजार की

आ रही है जो चाप क़दमों की

खिल रहे हैं कहीं कँवल शायद

गुलज़ार
16

गुलजार शायरी हिंदी

कोई अटका हुआ है पल शायद

वक़्त में पड़ गया है बल शायद

गुलज़ार
17

गुलज़ार साहब शायरी

Apane Saye Se Chauk Jate Hain,

Umr Guzari Hain Is Kadar Tanha..

गुलज़ार

गुलजार जी की शायरी

कितनी लम्बी ख़ामोशी से गुज़रा हूँ

उन से कितना कुछ कहने की कोशिश की

गुलज़ार

गुलजार शायरी

कोई न कोई रहबर रस्ता काट गया

जब भी अपनी रह चलने की कोशिश की

गुलज़ार

गुलजार साहब की शायरी

Kal Ka Vakiaa Tumhaara Tha,

Aaj Ki Dastan Hamari Hain..

गुलज़ार

गुलजार की हिंदी शायरी

सुनो! जब कभी देख लुं तुमको।

तो मुझे महसूस होता है कि.

दुनिया खूबसूरत है।

गुलज़ार

गुलजार की रोमांटिक शायरी

मैं तेरे इश्क़ की छाँव में जल-जलकर,

काला न पड़ जाऊं कहीं,

तू मुझे हुस्न की धूप का एक टुकड़ा दे।

गुलज़ार
18

गुलजार के शायरी

Suno Jab Kabhi Dekh Lu Tumako,

To Mujhe Mahsus Hota Hain Ki,

Duniya Khubsurat Hain..

गुलज़ार

गुलज़ार हिंदी शायरी

Main Tere Ishq Ki Chhanv Me Jal-Jalkar,

Kala Na Pad Jau Kahi?

Tu Mujhe Husn Ki Dhoop Ka Ek Tukada De..

गुलज़ार

शायरी गुलज़ार

महदूद हैं दुआएँ मेरे अख्तियार में,

हर साँस हो सुकून की तू सौ बरस जिये।

गुलज़ार

गुलजार की शायरी हिंदी

Mahadud Hai Duwayen Mere Akhtiyar Me,

Har Sans Ho Sukun Ki Tu Sau Baras Jeeye..

गुलज़ार

गुलज़ार साहब की दर्द भरी शायरी

 तेरी यादों के जो आखिरी थे निशान,

दिल तड़पता रहा, हम मिटाते रहे।

ख़त लिखे थे जो तुमने कभी प्यार में,

उसको पढते रहे और जलाते रहे।

गुलज़ार

गुलजार की दर्द भरी शायरी

ग़म मौत का नहीं है,

ग़म ये के आखिरी वक़्त भी,

तू मेरे घर नहीं है।

गुलज़ार

गुलज़ार shayari

Teri Yaadon Ke Jo Akhiri The Nishan,

Dil Tadapata Raha, Ham Mitate Rahe..

Khat Likhe The Jo Tumane Kabhi pyaar Me,

Usako Padhate Rahe Aur Jalate Rahe..

गुलज़ार

गुलज़ार साहब की शायरी

Gham Maut Ka Nahi Hain,

Gham Ye Ke Akhiri Waqt Bhi,

Tu Mere Ghar Nahi Hain..

गुलज़ार

गुलजार बेस्ट शायरी

मेरे दर्द को भी आह का हक़ हैं,

जैसे तेरे हुस्न को निगाह का हक़ है।

मुझे भी एक दिल दिया है भगवान ने,

मुझ नादान को भी एक गुनाह का हक़ हैं।।

गुलज़ार

शायरी बय गुलज़ार

Mere Dard Ko Bhi Aah Ka Haq Hai,

Jaise Tere Husn Ko Nigah Ka Haq Hai,

Mujhe Bhii Ek Dil Diya Hain Bhagwaan Ne,

Mujh Nadaan Ko Bhi Ek Gunaah Ka HAQ Hain..

गुलज़ार

गुलजार की शायरी हिंदी में

मेरे दिल में एक धड़कन तेरी हैं,

उस धड़कन की कसम तू ज़िन्दगी मेरी है।

मेरी तो हर सांस में एक सांस तेरी हैं,

जो कभी सांस जो रुक जाए तो मौत मेरी हैं।।

गुलज़ार

गुलजार की बेहतरीन शायरी

Mere Dil Me Ek Dhadakan Hain Teri Hain,

Us Dhadakan Ki Kasam Tu Zindagi Meri Hain,

Meri To Har Sans Me Ek Sans Teri Hain,

Jo KABHI Sans Jo Ruk Jaye To Maut Meri Hain..

गुलज़ार

गुलजार की शायरी

इस दिल का कहा मानो एक काम कर दो,

एक बे-नाम सी मोहब्बत मेरे नाम करदो।

मेरी ज़ात पर फ़क़त इतना अहसान कर दो,

किसी दिन सुबह को मिलो, और शाम कर दो।।

गुलज़ार

गुलजार की शायरी इमेज

Is Dil Ka Kaha Maano Ek Kaam Kar Do?

Ek Be-Naam Si Mohabbat Mere Naam Kar Do.

Meri Jaat Par Fakat Itana Ahasaan Kar Do,

Kisi Din Subah Ko Milo, Aur Sham Kar Do..

गुलज़ार

गुलजार शायरी इमेज

एक सो सोलह चाँद की रातें ,

एक तुम्हारे कंधे का तिल।

गीली मेहँदी की खुश्बू झूठ मूठ के वादे,

सब याद करादो, सब भिजवा दो,

मेरा वो सामान लौटा दो।।

गुलज़ार

गुलजार शायरी फोटो

Ek So Solah Chand Ki Raaten,

Ek Tumhare Kandhe Ka Til,

Gili Maihandi Ki Khushbu, Jhuth-Muth Ke Wade,

Sab Yaad Karado, Sab Sab Bhujwa Do,

Mera Wo Saamaan Lauta Do..

गुलज़ार

गुलजार शायरी स्टेटस

ना दूर रहने से रिश्ते टूट जाते हैं,

ना पास रहने से जुड़ जाते हैं।

यह तो एहसास के पक्के धागे हैं,

जो याद करने से और मजबूत हो जाते हैं।

गुलज़ार

गुलजार shayari

Naa Dur Rahane Se Rishte Tut Jate Hain,

Naa Paas Rahane Se Jud Jate Hain.

Yah To Ehasaas Ke Pakke Dhage Hain,

Jo Yaad Karane Se Aur Majbut Ho Jate Hain..

गुलज़ार

गुलजार quotes in hindi

कहू क्या वो बड़ी मासूमियत से पूछ बैठे है,

क्या सचमुच दिल के मारों को बड़ी तकलीफ़ होती है।

गुलज़ार

शायरी गुलजार की

Kya Kahu Wo Badi masumiyat Se Puchh Baithe Hain,

Kya Sachmuch Dil Ke Maaro Ko Badi taklif Hoti Hain..

गुलज़ार

शायरी गुलजार

ऐ हवा उनको कर दे खबर मेरी मौत की,

और कहना कि।

कफ़न की ख्वाहिश में मेरी लाश,

उनके आँचल का इंतज़ार करती है।

गुलज़ार

गुलज़ार शायरी images

E Hawa Unako Kar De Khabar Meri Maut Ki,

Aur Kahana Ki,

Kafan Ki Khwahish Me Meri Lash,

Unake Anchal Ka Intzaar Karati Hain..

गुलज़ार

गुलजार शायरी love

पलक से पानी गिरा है, तो उसको गिरने दो,

कोई पुरानी तमन्ना, पिंघल रही होगी।

गुलज़ार

गुलजार की शायरी love

Palak Se Pani Gira Hain, To Use Girane Do,

Koi Purani Tamanna, Pighal Rahi Hogi..

गुलज़ार

गुलजार जी की शायरी

आदतन तुम ने कर दिए वादे,

आदतन हम ने ऐतबार किया।

तेरी राहो में बारहा रुक कर,

हम ने अपना ही इंतज़ार किया।

अब ना मांगेंगे जिंदगी या रब,

ये गुनाह हम ने एक बार किया।

गुलज़ार

गुलज़ार की बेहतरीन शायरी

Aadatan Tum Ne Kar Diye Wade,

Aadatan Hamne Etbaar Kiya..

Teri Rahao Me Barha Ruk Kar,

Ham Ne Apana Hi Intzaar Kiya..

Ab Naa Mangenge Zindagi Ya Rab,

Ye Gunah Ham Ne Ek Baar Kiya..

गुलज़ार

गुलज़ार quotes

मैंने मौत को देखा तो नहीं,

पर शायद वो बहुत खूबसूरत होगी।

कमबख्त जो भी उससे मिलता हैं,

जीना ही छोड़ देता हैं।।

गुलज़ार

गुलज़ार दिल से शायरी

Maine Maut Ko Dekha To Nahi?

Par Shayad Wo Khubsurat Hogi..

Kambakht Jo Bhi Usase Milata Hain,

Jeena Chhod Deta Hain..

गुलज़ार

गुलज़ार shayari

 टूट जाना चाहता हूँ, बिखर जाना चाहता हूँ,

में फिर से निखर जाना चाहता हूँ।

मानता हूँ मुश्किल हैं,

लेकिन में गुलज़ार होना चाहता हूँ।।

गुलज़ार

गुलज़ार की शायरी इन हिंदी

Tut Jana Chahata Hun, Bikhar Jana Chahata Hun,

Main Fir Se Nikhar Jana Chahata Hun,

Manata Hun Mushkil Hain,

Lekin Main Gulzaar Hona Chahata Hun..

गुलज़ार

quotes गुलजार शायरी

सामने आए मेरे, देखा मुझे, बात भी की,

मुस्कुराए भी, पुरानी किसी पहचान की ख़ातिर,

कल का अख़बार था, बस देख लिया, रख भी दिया।।

गुलज़ार

Gulzar Shayari

Samane Aaye Mere, Dekha Mujhe Baat Ki,

Muskuraye Bhi, Purani Kisi Pahchan Ki Khatir,

Kal Ka Akhabaar Tha, Bas Dekh Liya, Rakh Bhi Diya..

गुलज़ार

Gulzar Shayari in hindi 

किसने रास्ते मे चांद रखा था,

मुझको ठोकर लगी कैसे।

वक़्त पे पांव कब रखा हमने,

ज़िंदगी मुंह के बल गिरी कैसे।।

आंख तो भर आयी थी पानी से,

तेरी तस्वीर जल गयी कैसे।।।

गुलज़ार

गुलजार शायरी रेख़्ता

Kisane Raste Me Cahnd Rakha Tha,

Mujhako Thokar Lagi Kaise?

Waqt Pe Panv Kab Rakha Hamane?

Zindagi Muh Ke Bal Geeri Kaise?

Ankh To Bhar Aayi Thi Pani Se,

Teri Tasveer Jal Gayi Kaise?

गुलज़ार

गुलजार की दो लाइन शायरी

दर्द हल्का है साँस भारी है,

जिए जाने की रस्म जारी है।

गुलज़ार

गुलजार शायरी दोस्ती

Dard Halka Hain sans Bhari Hain,

Jiye Jane Ki Rasm Jari hain..

गुलज़ार

गुलजार शायरी स्टेटस डाउनलोड

 उधड़ी सी किसी फ़िल्म का एक सीन थी बारिश,

इस बार मिली मुझसे तो ग़मगीन थी बारिश।

कुछ लोगों ने रंग लूट लिए शहर में इस के,

जंगल से जो निकली थी वो रंगीन थी बारिश।।

गुलज़ार

गुलजार शायरी हिन्दी

Udhadi Si Kisi Film Ka Ek Seen Thi Barish,

Is Baar Mili Mujhko To Ghamgin Thi Barish.

Kuchh Logo Ne Rang Lut Liye Shahar Me Is Ke,

Jangal Se Jo Nikali Thi Wo Rangin Thi Barish..

गुलज़ार

देर से गूँजतें हैं सन्नाटे,

जैसे हम को पुकारता है कोई।

हवा गुज़र गयी पत्ते थे कुछ हिले भी नहीं,

वो मेरे शहर में आये भी और मिले भी नहीं।।

गुलज़ार

Der Tak Gunjate Hain Sannate,

Jaise Ham Ko Pukarata Hain Koi.

Hawa Guzar Gayi Patte The Kuchh Hile Bhi Nahi,

Wo Mere Shahar Me Aaye Bhi Aur Mile Bhi NAHI..

गुलज़ार

 बीच आसमाँ में था बात करते- करते ही,

चांद इस तरह बुझा जैसे फूंक से दिया,

देखो तुम इतनी लम्बी सांस मत लिया करो।।

गुलज़ार

Beech Aasamaan Me Tha Baat Karate-Karate Hi,

Chand Is Tarah Bujha Jaise Funk Se Diya,

Dekho Tum Itani Lambi Sanse Mat Liya Karo..

गुलज़ार

लकीरें हैं तो रहने दो,

किसी ने रूठ कर गुस्से में शायद खींच दी थी,

उन्ही को अब बनाओ पाला, और आओ कबड्डी खेलते हैं।।

गुलज़ार

Lakire Hain To Rarane Do,

Kisi Ne Ruth Kar Gusse Me Shayad Kheech Di Thi,

Unhi Ko Ab Banao Palaa, Aur Aao Kabaddi Khelate Hain..

गुलज़ार

 कुछ बातें तब तक समझ में नहीं आती,

जब तक ख़ुद पर ना गुजरे।

गुलज़ार

Kuchh Baate Tab Tak Samajh Me Nahi Aati,

Jab Tak Khud Par Naa Guzare..

गुलज़ार

 हम तो समझे थे कि हम भूल गए हैं उनको,

क्या हुआ आज ये किस बात पे रोना आया?

गुलज़ार

Ham To Samjhe The Ki Ham Bhul Gaye Unako,

Kya Hua Aaj Ye Kis Baat Pe Rona Aaya?

गुलज़ार

कुछ जख्मो की उम्र नहीं होती हैं,

ताउम्र साथ चलते हैं, जिस्मो के ख़ाक होने तक।

गुलज़ार

Kuchh To Zakhmo Ki Umr Nahi Hoti Hain,

Taumr Sath Chalate Hain, Zismon Ke Khak Hone Tak..

गुलज़ार

बेहिसाब हसरते ना पालिये,

जो मिला हैं उसे सम्भालिये।

गुलज़ार

Behisaab Hasarate Na Paliye,

Jo Mila Hain use Sambhaliye..

गुलज़ार

शोर की तो उम्र होती हैं,

ख़ामोशी तो सदाबहार होती हैं।

गुलज़ार

Shor Ki To Umr Hoti Hain,

Khamoshi To Sadabhahaar Hoti hain..

गुलज़ार

गुलजार की शायरी जिंदगी

ज़िन्दगी सस्ती है साहब,

जीने के तरीके महंगे हैं..

गुलज़ार

Zindagi Sasti Hai Sahab,

Jine Ke Tarike Mahange Hain..

गुलज़ार

गुलजार की शायरी PDF

Leave a Reply